आईआईटी भिलाई के लिए 2 दिसंबर का दिन बहुत खास है। जाने क्यों।

भिलाई: आईआईटी भिलाई के लिए 2 दिसंबर का दिन बहुत खास है क्योंकि आईआईटी भवन की सुपर स्ट्रक्चर की शुरुआत कल यानी 2 दिसंबर को होने वाली है. इस सुपरस्ट्रक्चर की शुरुआत करने वाले हैं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल. आपको बता दें कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) भिलाई के भवन के फाउंडेशन का काम पिछले 6 महीने से पूरा हो चुका है.

भूपेश बघेल के अलावा अन्य अतिथि:

ब्रिक्स लेयरिंग सेरेमनी में छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के अलावा छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू एवं छत्तीसगढ़ के कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे , पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार और उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उमेश पटेल बतौर अतिथि उपस्थित रहेंगे. इनके अलावा बीजेपी से सांसद विजय बघेल और सरोज पांडे भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे और साथ ही भिलाई इस्पात संयंत्र के आला अधिकारी को भी आमंत्रित किया गया है.

1250 छात्रों की रहने के योग्य छात्रवास बनाए जाएंगे:

आईआईटी भिलाई सुपर स्ट्रक्चर निर्माण कार्य पहले चरण में हॉस्टल निर्माण कराया जाएगा
जिसमें 1250 छात्रों की रहने के योग्य हॉस्टल बनाए जाएंगे. छात्रावासों में छात्रों के तमाम सुविधाओं का भी ख्याल रखा जाएगा. जिसके तहत खास प्लान करके छात्रावास मनाया जाएगा. हॉस्टल के अलावा पहले चरण में स्टाफ के लिए रेजिडेंशियल टावर भी तैयार किए जाएंगे. जिसमें लगभग 720 करोड रुपए खर्च होंगे. जबकि दूसरे चरण में यह लागत हजार करोड़ के पार होगी.

पहले चरण में 720 करोड रुपए के लागत से क्या क्या बनेगा:

पहले चरण में दो एकेडमिक ब्लॉक, 2 साइंस विभाग भवन, सेंट्रल लाइब्रेरी, सेंट्रल लैब ,सेंट्रल इंस्ट्रूमेंटेशन लैब, लेक्चर हॉल-1 और रेजिडेंशियल टावर-3 इत्यादि बनाए जाएंगे.पहले चरण में लगभग 720 करोड रुपए खर्च होंगे।