Saturday, January 28, 2023
HomeTrending NewsCyrus Mistry Car Crash: Police Report Says Anahita Pandole Had Not Worn...

Cyrus Mistry Car Crash: Police Report Says Anahita Pandole Had Not Worn Seat Belt Properly – साइरस मिस्त्री की मौत का मामला: कार चलाने वाली अनाहिता ने ‘गलत तरीके से’ पहनी थी सीट बेल्ट, पुलिस का दावा


अनहिता पंडोले

अनहिता पंडोले
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

सड़क दुर्घटना में जान गंवाने वाले साइरस मिस्त्री की मौत के मामले में पुलिस ने नई जानकारी दी है। पुलिस ने दावा किया है कि अनाहिता पंडोले ने दुर्घटना के समय गलत तरीके से सीट बेल्ट पहनी थीं और इसी वजह से उन्हें ज्यादा चोटें आईं। बता दें कि टाटा संस के पूर्व चेयरमैन मिस्त्री (54) और उनके दोस्त जहांगीर पंडोले की चार सितंबर को महाराष्ट्र के पालघर जिले में सूर्या नदी पुल की रेलिंग से उनकी मर्सिडीज-बेंज कार की टक्कर हो जाने से मौत हो गई थी। हादसे में डेरियस को भी गंभीर चोटें आई थीं। ये सभी अहमदाबाद से मुंबई लौट रहे थे।

अनाहिता ने गलत तरीके से पहनी थी बेल्ट
पालघर के पुलिस अधीक्षक बालासाहेब पाटिल ने कहा, डॉ अनाहिता, जो अपनी मर्सिडीज-बेंज कार चला रही थी, ने सीट बेल्ट ठीक से नहीं पहनी थी। अनाहिता ने सिर्फ शोल्डर हार्नेस पहना था और लैप बेल्ट को एडजस्ट नहीं किया था। पुलिस के अनुसार मर्सिडीज-बेंज कार या किसी भी नई इलेक्ट्रॉनिक कार में एक अलार्म लगा होता है। अगर आप बेल्ट सही तरीके से नहीं पहनेंगे तो यह अलार्म बजने लगेगा। बस अनाहिता यहीं पर गलती कर गईं उन्होंने लैप बेल्ट को अलार्म को बंद करने में इस्तेमाल कर लिया था यानी कि उन्होंने उस बेल्ट को अलार्म पर डाल बैठ गईं और ट्राफिक में दिखाने के लिए सिर्फ शोल्डर हार्नेस पहन लिया। अब पुलिस इस लापरवाही को भी चार्जशीट में डालेगी।

 डॉ. अनाहिता के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज
पुलिस ने कहा कि हादसे में बाल-बाल बची डॉ. अनाहिता का दक्षिण मुंबई के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है और अगले कुछ दिनों में उन्हें छुट्टी मिलने की संभावना है। पालघर पुलिस ने नवंबर में उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। इनमें भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304 (ए) (उतावलेपन और लापरवाही से मौत का कारण), 279 (सार्वजनिक सड़क पर तेज गति से वाहन चलाना) और 337 (दूसरों के जीवन और व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालकर मौत का कारण) के तहत अपराध दर्ज किया गया था। 

कौन हैं अनाहिता पंडोले
हादसे के समय सायरस मिस्त्री के साथ उनकी कार में मौजूद अनाहिता मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ सलाहकार हैं। इसके साथ ही उन्होंने मुंबई के जसलोक अस्पताल में भी काम किया है। उनके पास बतौर स्त्री रोग विशेषज्ञ 18 सालों से ज्यादा का अनुभव है। अनाहिता पंडोले ने टीएनएमसी एंड बीवाईएल नायर अस्पताल से एमबीबीएस और एमडी किया है। इसके अलावा डॉ. पंडोले जियो पारसी कार्यक्रम और पारसी पंचायत से जुड़े हुई हैं। वहीं, उनके पति का नाम दरीयस पंडोले है, जो कि JM फाइनेंशियल के CEO हैं। 

कैसे हुआ हादसा?
बताया जा रहा है कि हादसा मुंबई से करीब 120 किलोमीटर कासा थाना क्षेत्र में सूर्या नदी पुल पर चरोटी नाका में दोपहर करीब तीन बजे  हुआ। स्त्रीरोग विशेषज्ञ अनाहिता पंडोले कार चला रही थी। उनकी उम्र करीब 55 साल बताई जा रही है। उनके पति डेरियस पंडोले भी साथ थे, उनकी उम्र 60 साल के करीब है। दोनों घायल हुए हैं।  मिस्त्री की कार डिवाइडर से टकराने के बाद रिटेंशन वॉल से जा भिड़ी। हादसे में जान गंवाने वालों में मिस्त्री के अलावा जहांगीर पंडोले भी हैं, वे डेरियस के भाई थे, उनकी उम्र 54 साल बताई जा रही है। दोनों के शवों का पोस्टमॉर्टम मुंबई के जेजे अस्पताल में किया जाएगा।

2011 में रतन टाटा के उत्तराधिकारी के तौर पर चुने गए थे साइरस मिस्त्री
मिस्त्री को 2011 में रतन टाटा के उत्तराधिकारी के तौर पर चुना गया था। इससे पहले भी वो प्रमुख कारोबारी समूह शापूरजी पालोंजी मिस्त्री कंपनी से जुड़े थे। चार जुलाई 1968 को मुंबई में जन्मे सायरस के पिता पालोंजी मिस्त्री भी बहुत बड़े बिजनेस टायकून थे। 

विस्तार

सड़क दुर्घटना में जान गंवाने वाले साइरस मिस्त्री की मौत के मामले में पुलिस ने नई जानकारी दी है। पुलिस ने दावा किया है कि अनाहिता पंडोले ने दुर्घटना के समय गलत तरीके से सीट बेल्ट पहनी थीं और इसी वजह से उन्हें ज्यादा चोटें आईं। बता दें कि टाटा संस के पूर्व चेयरमैन मिस्त्री (54) और उनके दोस्त जहांगीर पंडोले की चार सितंबर को महाराष्ट्र के पालघर जिले में सूर्या नदी पुल की रेलिंग से उनकी मर्सिडीज-बेंज कार की टक्कर हो जाने से मौत हो गई थी। हादसे में डेरियस को भी गंभीर चोटें आई थीं। ये सभी अहमदाबाद से मुंबई लौट रहे थे।

अनाहिता ने गलत तरीके से पहनी थी बेल्ट

पालघर के पुलिस अधीक्षक बालासाहेब पाटिल ने कहा, डॉ अनाहिता, जो अपनी मर्सिडीज-बेंज कार चला रही थी, ने सीट बेल्ट ठीक से नहीं पहनी थी। अनाहिता ने सिर्फ शोल्डर हार्नेस पहना था और लैप बेल्ट को एडजस्ट नहीं किया था। पुलिस के अनुसार मर्सिडीज-बेंज कार या किसी भी नई इलेक्ट्रॉनिक कार में एक अलार्म लगा होता है। अगर आप बेल्ट सही तरीके से नहीं पहनेंगे तो यह अलार्म बजने लगेगा। बस अनाहिता यहीं पर गलती कर गईं उन्होंने लैप बेल्ट को अलार्म को बंद करने में इस्तेमाल कर लिया था यानी कि उन्होंने उस बेल्ट को अलार्म पर डाल बैठ गईं और ट्राफिक में दिखाने के लिए सिर्फ शोल्डर हार्नेस पहन लिया। अब पुलिस इस लापरवाही को भी चार्जशीट में डालेगी।

 डॉ. अनाहिता के खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज

पुलिस ने कहा कि हादसे में बाल-बाल बची डॉ. अनाहिता का दक्षिण मुंबई के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है और अगले कुछ दिनों में उन्हें छुट्टी मिलने की संभावना है। पालघर पुलिस ने नवंबर में उनके खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। इनमें भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 304 (ए) (उतावलेपन और लापरवाही से मौत का कारण), 279 (सार्वजनिक सड़क पर तेज गति से वाहन चलाना) और 337 (दूसरों के जीवन और व्यक्तिगत सुरक्षा को खतरे में डालकर मौत का कारण) के तहत अपराध दर्ज किया गया था। 

कौन हैं अनाहिता पंडोले

हादसे के समय सायरस मिस्त्री के साथ उनकी कार में मौजूद अनाहिता मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में स्त्री रोग विशेषज्ञ सलाहकार हैं। इसके साथ ही उन्होंने मुंबई के जसलोक अस्पताल में भी काम किया है। उनके पास बतौर स्त्री रोग विशेषज्ञ 18 सालों से ज्यादा का अनुभव है। अनाहिता पंडोले ने टीएनएमसी एंड बीवाईएल नायर अस्पताल से एमबीबीएस और एमडी किया है। इसके अलावा डॉ. पंडोले जियो पारसी कार्यक्रम और पारसी पंचायत से जुड़े हुई हैं। वहीं, उनके पति का नाम दरीयस पंडोले है, जो कि JM फाइनेंशियल के CEO हैं। 

कैसे हुआ हादसा?

बताया जा रहा है कि हादसा मुंबई से करीब 120 किलोमीटर कासा थाना क्षेत्र में सूर्या नदी पुल पर चरोटी नाका में दोपहर करीब तीन बजे  हुआ। स्त्रीरोग विशेषज्ञ अनाहिता पंडोले कार चला रही थी। उनकी उम्र करीब 55 साल बताई जा रही है। उनके पति डेरियस पंडोले भी साथ थे, उनकी उम्र 60 साल के करीब है। दोनों घायल हुए हैं।  मिस्त्री की कार डिवाइडर से टकराने के बाद रिटेंशन वॉल से जा भिड़ी। हादसे में जान गंवाने वालों में मिस्त्री के अलावा जहांगीर पंडोले भी हैं, वे डेरियस के भाई थे, उनकी उम्र 54 साल बताई जा रही है। दोनों के शवों का पोस्टमॉर्टम मुंबई के जेजे अस्पताल में किया जाएगा।

2011 में रतन टाटा के उत्तराधिकारी के तौर पर चुने गए थे साइरस मिस्त्री

मिस्त्री को 2011 में रतन टाटा के उत्तराधिकारी के तौर पर चुना गया था। इससे पहले भी वो प्रमुख कारोबारी समूह शापूरजी पालोंजी मिस्त्री कंपनी से जुड़े थे। चार जुलाई 1968 को मुंबई में जन्मे सायरस के पिता पालोंजी मिस्त्री भी बहुत बड़े बिजनेस टायकून थे। 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img