Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsDerek O Brien Claims Trinamool Congress Saket Gokhale Arrested Case Over Morbi...

Derek O Brien Claims Trinamool Congress Saket Gokhale Arrested Case Over Morbi Bridge Tweet – Arrest: Tmc के प्रवक्ता साकेत गोखले जयपुर से गिरफ्तार, मोरबी हादसे पर पीएम मोदी को बदनाम करने का आरोप


साकेत गोखले

साकेत गोखले
– फोटो : Facebook/Saket Gokhale

ख़बर सुनें

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और ममता बनर्जी के करीबी साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने सोमवार देर रात राजस्थान के जयपुर एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया। गोखले पर मोरबी हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी के बारे में गलत खबर फैलाने का आरोप है। गिरफ्तारी की जानकारी उनकी पार्टी के सहयोगी और राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने दी है। ओ ब्रायन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने जयपुर एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को साकेत ने नई दिल्ली से जयपुर के लिए रात नौ बजे की फ्लाइट ली थी। जब वह उतरे तो गुजरात पुलिस जयपुर एयरपोर्ट पर उसका इंतजार कर रही थी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

मां से बात करने के बाद गोखले का फोन और सामान जब्त
ओ ब्रायन के अनुसार गिरफ्तारी के बाद गोखले ने मंगलवार की सुबह दो बजे अपनी मां को फोन किया और बताया कि  गुजरात पुलिस उसे अहमदाबाद ले जा रही है और वह आज दोपहर तक अहमदाबाद पहुंच जाएंगे। पुलिस ने उन्हें मात्र दो मिनट का फोन कॉल करने दिया और फिर उनका फोन और उसका सारा सामान जब्त कर लिया। 

मोरबी हादसे पर पीएम मोदी को बदनाम करने का आरोप
एक दिसंबर, 2022 को, TMC के प्रवक्ता साकेत गोखले ने दावा किया था कि पुल ढहने की घटना के बाद गुजरात में पीएम मोदी की मोरबी यात्रा के लिए केवल कुछ घंटों के लिए 30 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे। तथाकथित रिपोर्ट का हवाला देते हुए गोखले ने दावा किया था कि 5.5 करोड़ रुपये विशुद्ध रूप से  स्वागत, कार्यक्रम प्रबंधन और फोटोग्राफी के लिए थे। उन्होंने यह भी दावा किया कि मोदी के इवेंट मैनेजमेंट और पीआर की कीमत 135 लोगों के जीवन से अधिक है। क्योंकि त्रासदी के 135 पीड़ितों के परिवारों को प्रत्येक को केवल 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी गई। 


गुजरात भाजपा ने बताया था फेक न्यूज
हालांकि, गुजरात भाजपा ने गोखले के ट्वीट पर दी गई जानकारी को फेक न्यूज बताया था। गुजरात भाजपा ने कहा कि इस तरह की कोई RTI दाखिल नहीं की गई थी और न ही किसी आरटीआई का ऐसा कोई जवाब दिया गया। भाजपा गुजरात ने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा था कि नई क्लिपिंग मनगढ़ंत है, और वास्तव में ऐसी कोई रिपोर्ट कहीं भी प्रकाशित नहीं हुई थी।

मोरबी में ब्रिज टूटने से 135 लोगों की मौत
बता दें कि अक्तूबर में मोरबी शहर में ब्रिज के टूटने के कारण कुल 135 लोगों की मौत हो गई, जिसमें 55 बच्चे भी शामिल थे। इस दुर्घटना में 100 लोग अकेले मोरबी जिले के रहने वाले थे।  

विस्तार

तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता और ममता बनर्जी के करीबी साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने सोमवार देर रात राजस्थान के जयपुर एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया। गोखले पर मोरबी हादसे पर प्रधानमंत्री मोदी के बारे में गलत खबर फैलाने का आरोप है। गिरफ्तारी की जानकारी उनकी पार्टी के सहयोगी और राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने दी है। ओ ब्रायन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता साकेत गोखले को गुजरात पुलिस ने जयपुर एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया है। सोमवार को साकेत ने नई दिल्ली से जयपुर के लिए रात नौ बजे की फ्लाइट ली थी। जब वह उतरे तो गुजरात पुलिस जयपुर एयरपोर्ट पर उसका इंतजार कर रही थी और उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

मां से बात करने के बाद गोखले का फोन और सामान जब्त

ओ ब्रायन के अनुसार गिरफ्तारी के बाद गोखले ने मंगलवार की सुबह दो बजे अपनी मां को फोन किया और बताया कि  गुजरात पुलिस उसे अहमदाबाद ले जा रही है और वह आज दोपहर तक अहमदाबाद पहुंच जाएंगे। पुलिस ने उन्हें मात्र दो मिनट का फोन कॉल करने दिया और फिर उनका फोन और उसका सारा सामान जब्त कर लिया। 

मोरबी हादसे पर पीएम मोदी को बदनाम करने का आरोप

एक दिसंबर, 2022 को, TMC के प्रवक्ता साकेत गोखले ने दावा किया था कि पुल ढहने की घटना के बाद गुजरात में पीएम मोदी की मोरबी यात्रा के लिए केवल कुछ घंटों के लिए 30 करोड़ रुपये खर्च किए गए थे। तथाकथित रिपोर्ट का हवाला देते हुए गोखले ने दावा किया था कि 5.5 करोड़ रुपये विशुद्ध रूप से  स्वागत, कार्यक्रम प्रबंधन और फोटोग्राफी के लिए थे। उन्होंने यह भी दावा किया कि मोदी के इवेंट मैनेजमेंट और पीआर की कीमत 135 लोगों के जीवन से अधिक है। क्योंकि त्रासदी के 135 पीड़ितों के परिवारों को प्रत्येक को केवल 4 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी गई। 



गुजरात भाजपा ने बताया था फेक न्यूज

हालांकि, गुजरात भाजपा ने गोखले के ट्वीट पर दी गई जानकारी को फेक न्यूज बताया था। गुजरात भाजपा ने कहा कि इस तरह की कोई RTI दाखिल नहीं की गई थी और न ही किसी आरटीआई का ऐसा कोई जवाब दिया गया। भाजपा गुजरात ने ट्विटर पर पोस्ट करते हुए लिखा था कि नई क्लिपिंग मनगढ़ंत है, और वास्तव में ऐसी कोई रिपोर्ट कहीं भी प्रकाशित नहीं हुई थी।

मोरबी में ब्रिज टूटने से 135 लोगों की मौत

बता दें कि अक्तूबर में मोरबी शहर में ब्रिज के टूटने के कारण कुल 135 लोगों की मौत हो गई, जिसमें 55 बच्चे भी शामिल थे। इस दुर्घटना में 100 लोग अकेले मोरबी जिले के रहने वाले थे।  





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img