Tuesday, October 4, 2022
spot_img
HomeTrending Newsतुलसी विवाह: देवउठनी एकादशी से मांगलिक कार्य आरंभ हो जाते है,...

तुलसी विवाह: देवउठनी एकादशी से मांगलिक कार्य आरंभ हो जाते है, आइए जानते हैं इस साल शादी के शुभ मुहूर्त के बारे में।

आज से सभी घरों में मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो जाएगी, आज के दिन विष्णु भगवान जाग उठेंगे । आज ही के दिन से सभी मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे और हर घर में शहनाई बजेंगी । देवउठनी एकादशी पर लोग अपने अपने घरों में तुलसी माता का विवाह शालिग्राम के साथ करते हैं। मान्यता है कि आज के दिन तुलसी और शालिग्राम का विवाह कराने से दांपत्य जीवन खुशहाल और सुखी संपन्न रहता है । आज ही के दिन सुहागिन महिलाएं माता तुलसी को चुनरी के संग श्रृंगार की सभी वस्तुएं भी चढ़ाती हैं । तुलसी विवाह के लिए गन्ने भी खरीद के मंगाती हैं।

विष्णु भगवान जाग उठेंगे

इसके साथ ही आज के दिन शिव सागर में चिर निद्रा में सोए हुए भगवान विष्णु भी जाग उठते हैं । इस शुभ अवसर पर कृष्ण भगवान के मंदिरों में भी खासकर विशेष रूप से पूजा-अर्चना होती है।

इस वर्ष शादी के शुभ मुहूर्त

दरअसल आपको बता दें कि हिंदुओं में यह मान्यता है कि एकादशी के साथ ही मांगलिक कार्य शुरू होते हैं । हालांकि इस साल नवंबर और दिसंबर में विवाह के शुभ मुहूर्त बहुत कम है, साथ ही साल 2021 में भी शुभ मुहूर्त इक्का दुक्का ही है।

दरसअल 17 जनवरी 2021 से गुरु का तारा अस्त होगा और 14 फरवरी को उदित होगा । 16 फरवरी से शुक्र भी अस्त हो जाएगा। गुरु और शुक्र के अस्त हो जाने की वजह से सभी शादियां अप्रैल तक नहीं हो पाएंगी। क्योंकि अप्रैल तक कोई भी शुभ मुहूर्त नहीं है। ज्योतिषियों का मानना है कि 19 अप्रैल को शुक्र के उदय के पश्चात ही विवाह शुरू होंगे क्योंकि शुक्र के उदय के बाद ही शुभ मुहूर्त शादी के योग्य है।

वहीं इस साल 11 दिसंबर के बाद विवाह के कोई मुहूर्त नहीं है और हिंदुओं में 16 दिसंबर से 14 जनवरी तक खरमास का महीना शुरू हो जाता है जिसकी वजह से जनवरी में भी शादियां नहीं हो पाएंगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments