Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsGujarat Elections: 62.89 Percent Vote Turnout In First Phase Election - Gujarat...

Gujarat Elections: 62.89 Percent Vote Turnout In First Phase Election – Gujarat Elections: 62.89 फीसदी प्रथम श्रेणी से पास हुए मतदाता, पर नहीं छू सके पिछली बार का आंकड़ा


Gujarat Elections 2022

Gujarat Elections 2022
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बृहस्पतिवार को शांतिपूर्ण ढंग से हुए मतदान में 62.89 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। पिछली बार हुए 67.23 फीसदी के मुकाबले इस बार लगभग 4.4 फीसदी मतदान कम दर्ज किया गया है। हालांकि, मतदान के आंकड़ों में फेरबदल होने की संभावना है। इसके साथ ही 19 जिलों की 89 सीटों के लिए मैदान में उतरे 788 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है। 

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बृहस्पतिवार को हुए मतदान में 62.89 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। हालांकि यह पिछली बार (67.23%) के मुकाबले 4.4% कम है। सौराष्ट्र-कच्छ में 55 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। वहीं, दक्षिण गुजरात में 61 फीसदी वोटिंग हुई है। इस तरह सौराष्ट्र में दक्षिण गुजरात के मुकाबले 6 फीसदी कम वोटिंग हुई है। यहां के 12 जिलों में सिर्फ मोरबी में ही 69.77% वोट पड़े हैं। बाकी के अन्य जिलों में पिछली बार की तुलना में बेहद कम वोटिंग हुई है। इस तरह पाटीदार क्षेत्र में कम  मतदान ने प्रत्याशियों को असमंजस में डाल दिया है। राज्य के 19 जिलों में आने वाली इन सीटों पर 788 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले फेज में दो करोड़ से ज्यादा वोटर्स को अपने मत का इस्तेमाल करना था। पहले फेज की कुल 89 सीटों में से भाजपा के पास सबसे ज्यादा 58, कांग्रेस के पास 26 और बीटीपी के पास 2, सीएनपी के पास एक सीट है।

कुछ जगह छिटपुट घटनाएं
भावनगर के पलिताना में मतदान के दौरान राजनीतिक दलों के दो गुटों में झड़प हो गई। 
जूनागढ़ में एक कांग्रेस नेता कंधे पर गैस सिलिंडर लेकर मतदान केंद्र की ओर जा रहे थे, पुलिस ने रोका। 
राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने कहा कि शुरुआती तीन घंटों में विभिन्न केंद्रों पर गड़बड़ी के कारण 33 बैलट यूनिट, 29 कंट्रोल यूनिट और 69 वीवीपीएटी को बदला गया। 

बहिष्कार
झघडिया विधानसभा के केसर गांव के ग्रामीणों ने मूलभूत सुविधाओं के अभाव में चुनाव का बहिष्कार किया। एक भी वोट नहीं पड़ा।

बोटाड : सबसे कम मतदान
चुनाव आयोग के अनुसार, बोटाड जिले में सबसे कम 57.58 फीसदी मतदान हुआ। जबकि पोरबंदर में 59.51 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।
तापी : सर्वाधिक पड़े वोट
सबसे ज्यादा मतदान तापी जिले 76.91 फीसदी दर्ज किया गया। नर्मदा जिले में 73.50 यहां 73.02 फीसदी वोट पड़े।

2017 का चुनाव
70% से ज्यादा मतदान वाली 27 सीटों में 14 कांग्रेस और 11 बीजेपी ने जीती थी। 2017 के चुनाव में कपराडा, नीजर, मांडवी (एसटी), व्यारा, वांसदा, नंदोद, सोमनाथ, वंकानेर, टंकारा, जसदण, डांग्स, मोरबी, जंबुसर, तलाला में कांग्रेस प्रत्याशियों को जीत मिली थी। वहीं, भाजपा ने जेतपुर (राजकोट), अंकलेश्वर, मांडवी, नवसारी, जलालपोर, धरमपुर, मंगरोल (एसटी), महुवा (एसटी), वागरा, गनदेवी, बरदोली सीटों पर अपना परचम लहराया था। वहीं अन्य दो सीटें डेडीआपाडा और झगडिया भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के खाते में गई थीं।

डाक से मतपत्र भेजने की जगह खुद मतदान केंद्र पहुंचे 104 वर्ष के रामजीभाई 
निर्वाचन आयोग ने  बताया, 104 वर्षीय रामजीभाई ने डाक से मतपत्र भेजने का विकल्प चुनने के बजाय मतदान केंद्र पर आकर मतदान किया। 
पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष कांग्रस के परेश धनानी और आप के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया ने सुबह वोट डाला। जामनगर (उत्तर) से भाजपा उम्मीदवार रीवाबा जडेजा ने राजकोट और उनके पति व क्रिकेटर रवींद्र जडेजा ने जामनगर में वोट डाला। वोटिंग की निगरानी के लिए 13,065 केंद्रों से लाइव वेबकास्ट हुआ

पहली बार मतदान 
गुजरात के मिनी अफ्रीका कहे जाने वाले जम्बूर गांव में पहली बार लोग वोट डाले गए। यहां उनके लिए स्पेशल ट्राइबल बूथ बनाया गया था।

विस्तार

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बृहस्पतिवार को शांतिपूर्ण ढंग से हुए मतदान में 62.89 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। पिछली बार हुए 67.23 फीसदी के मुकाबले इस बार लगभग 4.4 फीसदी मतदान कम दर्ज किया गया है। हालांकि, मतदान के आंकड़ों में फेरबदल होने की संभावना है। इसके साथ ही 19 जिलों की 89 सीटों के लिए मैदान में उतरे 788 प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम में कैद हो चुकी है। 

गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में बृहस्पतिवार को हुए मतदान में 62.89 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया। हालांकि यह पिछली बार (67.23%) के मुकाबले 4.4% कम है। सौराष्ट्र-कच्छ में 55 फीसदी मतदान दर्ज किया गया। वहीं, दक्षिण गुजरात में 61 फीसदी वोटिंग हुई है। इस तरह सौराष्ट्र में दक्षिण गुजरात के मुकाबले 6 फीसदी कम वोटिंग हुई है। यहां के 12 जिलों में सिर्फ मोरबी में ही 69.77% वोट पड़े हैं। बाकी के अन्य जिलों में पिछली बार की तुलना में बेहद कम वोटिंग हुई है। इस तरह पाटीदार क्षेत्र में कम  मतदान ने प्रत्याशियों को असमंजस में डाल दिया है। राज्य के 19 जिलों में आने वाली इन सीटों पर 788 उम्मीदवार मैदान में हैं। पहले फेज में दो करोड़ से ज्यादा वोटर्स को अपने मत का इस्तेमाल करना था। पहले फेज की कुल 89 सीटों में से भाजपा के पास सबसे ज्यादा 58, कांग्रेस के पास 26 और बीटीपी के पास 2, सीएनपी के पास एक सीट है।

कुछ जगह छिटपुट घटनाएं

भावनगर के पलिताना में मतदान के दौरान राजनीतिक दलों के दो गुटों में झड़प हो गई। 

जूनागढ़ में एक कांग्रेस नेता कंधे पर गैस सिलिंडर लेकर मतदान केंद्र की ओर जा रहे थे, पुलिस ने रोका। 

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) ने कहा कि शुरुआती तीन घंटों में विभिन्न केंद्रों पर गड़बड़ी के कारण 33 बैलट यूनिट, 29 कंट्रोल यूनिट और 69 वीवीपीएटी को बदला गया। 

बहिष्कार

झघडिया विधानसभा के केसर गांव के ग्रामीणों ने मूलभूत सुविधाओं के अभाव में चुनाव का बहिष्कार किया। एक भी वोट नहीं पड़ा।

बोटाड : सबसे कम मतदान

चुनाव आयोग के अनुसार, बोटाड जिले में सबसे कम 57.58 फीसदी मतदान हुआ। जबकि पोरबंदर में 59.51 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।

तापी : सर्वाधिक पड़े वोट

सबसे ज्यादा मतदान तापी जिले 76.91 फीसदी दर्ज किया गया। नर्मदा जिले में 73.50 यहां 73.02 फीसदी वोट पड़े।

2017 का चुनाव

70% से ज्यादा मतदान वाली 27 सीटों में 14 कांग्रेस और 11 बीजेपी ने जीती थी। 2017 के चुनाव में कपराडा, नीजर, मांडवी (एसटी), व्यारा, वांसदा, नंदोद, सोमनाथ, वंकानेर, टंकारा, जसदण, डांग्स, मोरबी, जंबुसर, तलाला में कांग्रेस प्रत्याशियों को जीत मिली थी। वहीं, भाजपा ने जेतपुर (राजकोट), अंकलेश्वर, मांडवी, नवसारी, जलालपोर, धरमपुर, मंगरोल (एसटी), महुवा (एसटी), वागरा, गनदेवी, बरदोली सीटों पर अपना परचम लहराया था। वहीं अन्य दो सीटें डेडीआपाडा और झगडिया भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) के खाते में गई थीं।

डाक से मतपत्र भेजने की जगह खुद मतदान केंद्र पहुंचे 104 वर्ष के रामजीभाई 

निर्वाचन आयोग ने  बताया, 104 वर्षीय रामजीभाई ने डाक से मतपत्र भेजने का विकल्प चुनने के बजाय मतदान केंद्र पर आकर मतदान किया। 

पूर्व मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष कांग्रस के परेश धनानी और आप के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया ने सुबह वोट डाला। जामनगर (उत्तर) से भाजपा उम्मीदवार रीवाबा जडेजा ने राजकोट और उनके पति व क्रिकेटर रवींद्र जडेजा ने जामनगर में वोट डाला। वोटिंग की निगरानी के लिए 13,065 केंद्रों से लाइव वेबकास्ट हुआ

पहली बार मतदान 

गुजरात के मिनी अफ्रीका कहे जाने वाले जम्बूर गांव में पहली बार लोग वोट डाले गए। यहां उनके लिए स्पेशल ट्राइबल बूथ बनाया गया था।





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img