Tuesday, January 31, 2023
HomeTrending NewsGwalior Youth Claims To Be Collector Of The Town, Turns Out To...

Gwalior Youth Claims To Be Collector Of The Town, Turns Out To Be A Fraud – Gwalior News: ये मामला फिल्मी है! ग्वालियर में युवक का दावा- मैं हूं नया कलेक्टर, राष्ट्रपति ने अपॉइंट किया है


ग्वालियर में खुद को कलेक्टर बताने वाले युवक को पुलिस पकड़कर ले गई।

ग्वालियर में खुद को कलेक्टर बताने वाले युवक को पुलिस पकड़कर ले गई।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

एक युवक ग्वालियर के कलेक्टोरेट में पहुंचकर सबकी हंसी का पात्र बन गया। उसने स्टेनो से कहा कि वह 2020 बैच का आईएएस अफसर है। राष्ट्रपति ने उसे सीधे ग्वालियर कलेक्टर अपॉइंट किया है। खैर, स्टेनो ने उसे बिठाया और पुलिस को बुलाया। पुलिस उसे पकड़कर ले गई, लेकिन वहां भी वह अपनी स्कूटी से फरार हो गया।  

वाकया रोचक है। एक युवक सूटकेस लेकर सीधे कलेक्टोरेट पहुंचा। स्टेनो के चैम्बर में जाकर बोला कि ‘मैं कलेक्टर पद पर जॉइनिंग देने आया है। मुझे कलेक्टर का कमरा दिखाओ। मैं अब ग्वालियर का नया कलेक्टर हूं।’ स्टेनो ने सुना तो वह दंग रह गया। युवक ने यह भी कहा कि ‘मैं 2020 बैच का आईएएस अफसर हूं। मेरी नियुक्ति खुद राष्ट्रपति ने की है।’ इस सनकी की बातें सुनकर सभी अधिकारी और सुरक्षा गार्ड कुछ समय के लिए तो दंग रह गए। फिर सुरक्षा गार्डो ने इस फर्जी कलेक्टर को कुर्सी पर बिठाया। पुलिस को सूचना दी और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे हिरासत में लिया और थाने ले गई। 

सनकी है खुद को कलेक्टर बताने वाला युवक
बताया जाता है कि जो युवक खुद को कलेक्टर बता रहा था, वह शहर के आनंद नगर का रहने वाला है। उसका नाम एम शाक्य बताया जा रहा है। वह सनकी है और स्कूटी पर पूरे शहर में घूमता रहता है। अपने आपको अधिकारी बताता है। इसी सनक में वह शनिवार को सीधे कलेक्टोरेट पहुंच गया। 

एक हाथ में हेलमेट, एक में बैग
यह युवक स्कूटी पर सवार होकर ही कलेक्टोरेट पहुंचा था। एक हाथ में हेलमेट और दूसरे में बैग लेकर सीधे कलेक्टर कार्यालय के पास बने स्टेनो चैम्बर में घुस गया। खुद को कलेक्टर बताते हुए स्टेनो से बोला कि मुझे जॉइन कराओ। चैम्बर भी दिखाओ। मैं अब ग्वालियर का कलेक्टर हूं। बताया जा रहा है कि पुलिस की लापरवाही से यह सनकी अपनी स्कूटी लेकर फरार हो गया है। पुलिस उसकी गाड़ी नंबर के आधार पर तलाश में जुटी है।

 

विस्तार

एक युवक ग्वालियर के कलेक्टोरेट में पहुंचकर सबकी हंसी का पात्र बन गया। उसने स्टेनो से कहा कि वह 2020 बैच का आईएएस अफसर है। राष्ट्रपति ने उसे सीधे ग्वालियर कलेक्टर अपॉइंट किया है। खैर, स्टेनो ने उसे बिठाया और पुलिस को बुलाया। पुलिस उसे पकड़कर ले गई, लेकिन वहां भी वह अपनी स्कूटी से फरार हो गया।  

वाकया रोचक है। एक युवक सूटकेस लेकर सीधे कलेक्टोरेट पहुंचा। स्टेनो के चैम्बर में जाकर बोला कि ‘मैं कलेक्टर पद पर जॉइनिंग देने आया है। मुझे कलेक्टर का कमरा दिखाओ। मैं अब ग्वालियर का नया कलेक्टर हूं।’ स्टेनो ने सुना तो वह दंग रह गया। युवक ने यह भी कहा कि ‘मैं 2020 बैच का आईएएस अफसर हूं। मेरी नियुक्ति खुद राष्ट्रपति ने की है।’ इस सनकी की बातें सुनकर सभी अधिकारी और सुरक्षा गार्ड कुछ समय के लिए तो दंग रह गए। फिर सुरक्षा गार्डो ने इस फर्जी कलेक्टर को कुर्सी पर बिठाया। पुलिस को सूचना दी और पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे हिरासत में लिया और थाने ले गई। 

सनकी है खुद को कलेक्टर बताने वाला युवक

बताया जाता है कि जो युवक खुद को कलेक्टर बता रहा था, वह शहर के आनंद नगर का रहने वाला है। उसका नाम एम शाक्य बताया जा रहा है। वह सनकी है और स्कूटी पर पूरे शहर में घूमता रहता है। अपने आपको अधिकारी बताता है। इसी सनक में वह शनिवार को सीधे कलेक्टोरेट पहुंच गया। 

एक हाथ में हेलमेट, एक में बैग

यह युवक स्कूटी पर सवार होकर ही कलेक्टोरेट पहुंचा था। एक हाथ में हेलमेट और दूसरे में बैग लेकर सीधे कलेक्टर कार्यालय के पास बने स्टेनो चैम्बर में घुस गया। खुद को कलेक्टर बताते हुए स्टेनो से बोला कि मुझे जॉइन कराओ। चैम्बर भी दिखाओ। मैं अब ग्वालियर का कलेक्टर हूं। बताया जा रहा है कि पुलिस की लापरवाही से यह सनकी अपनी स्कूटी लेकर फरार हो गया है। पुलिस उसकी गाड़ी नंबर के आधार पर तलाश में जुटी है।

 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img