Friday, December 2, 2022
HomeTrending NewsImf Chief Pierre Oliindia Is A Bright Light Economy, But Key Structural...

Imf Chief Pierre Oliindia Is A Bright Light Economy, But Key Structural Reforms Needed For Usd 10 Trillion Gdp – Imf: आईएमएफ ने की भारतीय अर्थव्यवस्था की तारीफ, कहा- डिजिटाइजेशन गेम चेंजर के रूप में साबित होगा


आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री पियरे-ओलिवियर गौरींचस

आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री पियरे-ओलिवियर गौरींचस
– फोटो : Social Media

ख़बर सुनें

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुख्य अर्थशास्त्री पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने भारतीय अर्थव्यवस्था की तारीफ है। उन्होंने कहा कि भारतीय  अर्थव्यवस्था ऐसे समय में तेजी से उभर रही है जब दुनिया मंदी की संभावनाओं का सामना कर रही है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका की 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था छूने के लिए देश को अभी और भी महत्वपूर्ण संरचनात्मक सुधारों की आवश्यकता है।  

अमेरिकी अर्थव्यवस्था की बराबरी करने का माद्दा भारत में
पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने कहा कि भारत के 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य पर एक सवाल के जवाब में, गौरींचस ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा कि वह निश्चित रूप से मानते हैं कि यह प्राप्त करने योग्य है। उन्होंने कहा कि मेरा मतलब है, हमने अतीत में कई देशों को बहुत तेजी से विकास करते हुए देखा है और वास्तव में बहुत तेजी से विकास किया भी है। उन्होंने कहा कि कई देशों के लिए अमेरिकी अर्थव्यवस्था की बराबरी करना थोड़ा कठिन है  लेकिन भारत जैसी अर्थव्यवस्था के लिए निश्चित रूप से एक बड़ी संभावना है। ऐसा करने के लिए, भारत को कई संरचनात्मक सुधार करने की जरूरत है। 

भारत को इन क्षेत्रों में करना होगा निवेश: आईएमएफ
आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री ने कहा कि ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां, आप जानते हैं, सार्वजनिक बुनियादी ढांचे को व्यापक रूप से परिभाषित किया गया है, न केवल इमारतों और सड़कों के संदर्भ में, बल्कि मानव में निवेश, लोगों और मानव पूंजी, स्वास्थ्य, शिक्षा आदि में निवेश करने से अर्थव्यवस्था को मदद मिलेगी। आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री ने कहा, वास्तव में, वास्तव में निरंतर आधार पर बहुत तेजी से विकास होता है।

 कई देशों की तुलना में भारत अच्छा कर रहा
पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने कहा कि भारत सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इसलिए, जब यह वास्तव में 6.8 या 6.1 जैसी ठोस दरों पर बढ़ रहा है, तो यह वास्तव में ध्यान देने योग्य है। ऐसी तस्वीर में जहां अन्य सभी अर्थव्यवस्थाएं और उन्नत अर्थव्यवस्थाएं शायद ही कभी उस गति से बढ़ती हैं, लेकिन भारत  अगर अभी भी अच्छा कर रहा है तो यह अच्छा संकेत है।

विस्तार

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के मुख्य अर्थशास्त्री पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने भारतीय अर्थव्यवस्था की तारीफ है। उन्होंने कहा कि भारतीय  अर्थव्यवस्था ऐसे समय में तेजी से उभर रही है जब दुनिया मंदी की संभावनाओं का सामना कर रही है। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका की 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था छूने के लिए देश को अभी और भी महत्वपूर्ण संरचनात्मक सुधारों की आवश्यकता है।  

अमेरिकी अर्थव्यवस्था की बराबरी करने का माद्दा भारत में

पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने कहा कि भारत के 10 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के महत्वाकांक्षी लक्ष्य पर एक सवाल के जवाब में, गौरींचस ने समाचार एजेंसी पीटीआई से कहा कि वह निश्चित रूप से मानते हैं कि यह प्राप्त करने योग्य है। उन्होंने कहा कि मेरा मतलब है, हमने अतीत में कई देशों को बहुत तेजी से विकास करते हुए देखा है और वास्तव में बहुत तेजी से विकास किया भी है। उन्होंने कहा कि कई देशों के लिए अमेरिकी अर्थव्यवस्था की बराबरी करना थोड़ा कठिन है  लेकिन भारत जैसी अर्थव्यवस्था के लिए निश्चित रूप से एक बड़ी संभावना है। ऐसा करने के लिए, भारत को कई संरचनात्मक सुधार करने की जरूरत है। 

भारत को इन क्षेत्रों में करना होगा निवेश: आईएमएफ

आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री ने कहा कि ऐसे कई क्षेत्र हैं जहां, आप जानते हैं, सार्वजनिक बुनियादी ढांचे को व्यापक रूप से परिभाषित किया गया है, न केवल इमारतों और सड़कों के संदर्भ में, बल्कि मानव में निवेश, लोगों और मानव पूंजी, स्वास्थ्य, शिक्षा आदि में निवेश करने से अर्थव्यवस्था को मदद मिलेगी। आईएमएफ के मुख्य अर्थशास्त्री ने कहा, वास्तव में, वास्तव में निरंतर आधार पर बहुत तेजी से विकास होता है।

 कई देशों की तुलना में भारत अच्छा कर रहा

पियरे-ओलिवियर गौरिनचास ने कहा कि भारत सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। इसलिए, जब यह वास्तव में 6.8 या 6.1 जैसी ठोस दरों पर बढ़ रहा है, तो यह वास्तव में ध्यान देने योग्य है। ऐसी तस्वीर में जहां अन्य सभी अर्थव्यवस्थाएं और उन्नत अर्थव्यवस्थाएं शायद ही कभी उस गति से बढ़ती हैं, लेकिन भारत  अगर अभी भी अच्छा कर रहा है तो यह अच्छा संकेत है।





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img