Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsLucknow News: Cm Yogi Said – There Should Be No Disturbance In...

Lucknow News: Cm Yogi Said – There Should Be No Disturbance In Festivals – Lucknow News : सीएम योगी बोले- त्योहारों में न पड़े कोई खलल, माहौल खराब करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ।
– फोटो : amar ujala

ख़बर सुनें

दीपावली व छठ जैसे बड़े त्योहारों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन और पुलिस को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय कानून-व्यवस्था के दृषिकोण से संवेदनशील है, इसलिए पुलिस बल को अलर्ट और खुफिया तंत्र को सक्रिय रखें। उन्होंने माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ सख्ती करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री रविवार को प्रदेश भर के प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से  कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शरारतपूर्ण बयान जारी करने वालों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि दीपावली के मौके पर स्थापित होने वाली लक्ष्मी प्रतिमा का विसर्जन नदियों के स्थान पर तालाब में कराया जाए। पटाखों की दुकानों और गोदामों को आबादी से दूर रखने की व्यवस्था हो। फायर टेंडर का पर्याप्त इंतजाम रखें। पटाखा विक्रेताओं को समय से लाइसेंस और एनओसी जारी की जाए। पर्यावरण व जीवन के लिए नुकसानदेह पटाखा बजाने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में कई त्योहारों के साथ अयोध्या में दीपोत्सव व वाराणसी में देव दीपावली भी मनाई जाएगी। इसके अलावा बलिया का ददरी मेला, अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा, प्रयागराज में कार्तिक पूर्णिमा स्नान और गढ़मुक्तेश्वर मेला का आयोजन होना है। इसलिए पुलिस महकमे को सतर्क और सजग रहने की जरूरत है।

लंपी की वजह से ददरी मेला स्थगित
मुख्यमंत्री ने पशुओं में लंपी संक्रमण को देखते हुए बलिया के विश्व प्रसिद्ध पशु मेले के आयोजन को इस साल स्थगित करने निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पशु व्यापारियों को इसकी समय सूचना दे दी जाए। 

हाल में हुई अतिवृष्टि से नुकसान की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कहा कि इससे करीब 15 लाख आबादी प्रभावित हुई है। इसके मद्देनजर सरकार द्वारा शुरू की गई राहत अभियान में किसी भी स्तर पर ढिलाई न बरती जाए। हर गांव के लिए नोडल अधिकारी तैनात कर राहत कार्यों को तेज किया जाए। प्रभावित परिवारों को हर जरूरी मदद तत्काल उपलब्ध कराई जाए। प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ चौकियों को सक्रिय रखें। उन क्षेत्रों में बीमारियों के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था की जाए।
  
वहीं, त्योहारों के मद्देनजर प्रदेश भर के प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री ने थाना, सर्किल, जिला, रेंज, जोन व मंडल स्तर पर तैनात वरिष्ठ अधिकारियों को क्षेत्रीय प्रतिष्ठित लोगों और मीडिया से संवाद रखने के भी निर्देश दिए। कहा कि त्योहार के दौरान यातायात व्यवस्था को सुचारू रखने के लिए ट्रैफिक प्लान तैयार करने के साथ ही संवेदनशील क्षेत्रों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती और प्रतिदिन शाम को पुलिस बल को फुट पेट्रोलिंग हो। पीआरवी 112 को हर दम सक्रिय रखा जाए। उन्होंने त्योहारों के दौरान ग्रामीण व शहरी क्षेत्र में निर्बाध बिजली आपूर्ति सुनिश्चित करने और खाद्य पदार्थों की नियमित जांच करने व मिलावट पाए जाने पर तत्काल कार्रवाई करने के निर्देश दिए। 

विस्तार

दीपावली व छठ जैसे बड़े त्योहारों को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रशासन और पुलिस को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि मौजूदा समय कानून-व्यवस्था के दृषिकोण से संवेदनशील है, इसलिए पुलिस बल को अलर्ट और खुफिया तंत्र को सक्रिय रखें। उन्होंने माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ सख्ती करने के भी निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री रविवार को प्रदेश भर के प्रशासन और पुलिस अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से  कानून-व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि शरारतपूर्ण बयान जारी करने वालों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाते हुए कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि दीपावली के मौके पर स्थापित होने वाली लक्ष्मी प्रतिमा का विसर्जन नदियों के स्थान पर तालाब में कराया जाए। पटाखों की दुकानों और गोदामों को आबादी से दूर रखने की व्यवस्था हो। फायर टेंडर का पर्याप्त इंतजाम रखें। पटाखा विक्रेताओं को समय से लाइसेंस और एनओसी जारी की जाए। पर्यावरण व जीवन के लिए नुकसानदेह पटाखा बजाने वालों पर कड़ी नजर रखी जाए। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में कई त्योहारों के साथ अयोध्या में दीपोत्सव व वाराणसी में देव दीपावली भी मनाई जाएगी। इसके अलावा बलिया का ददरी मेला, अयोध्या में 84 कोसी परिक्रमा, प्रयागराज में कार्तिक पूर्णिमा स्नान और गढ़मुक्तेश्वर मेला का आयोजन होना है। इसलिए पुलिस महकमे को सतर्क और सजग रहने की जरूरत है।

लंपी की वजह से ददरी मेला स्थगित

मुख्यमंत्री ने पशुओं में लंपी संक्रमण को देखते हुए बलिया के विश्व प्रसिद्ध पशु मेले के आयोजन को इस साल स्थगित करने निर्देश दिए हैं। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि पशु व्यापारियों को इसकी समय सूचना दे दी जाए। 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img