Sunday, October 2, 2022
spot_img
Homedesh videshमायावती ने सपा-बसपा गठबंधन को बताया भूल, सपा को हराने के लिए...

मायावती ने सपा-बसपा गठबंधन को बताया भूल, सपा को हराने के लिए बीजेपी को वोट करेंगे

बसपा की प्रमुख मायावती का कहना है कि हमारी पार्टी ने कम्युनल फोर्सेज से लड़ने के लिए लोकसभा चुनाव में सपा यानी समाजवादी पार्टी के साथ हाथ तो जरूर मिलाया था लेकिन अब हम उनका साथ नहीं दे सकते । उन्होंने कहां की उनकी आपसी मतभेद के चलते वह बसपा के साथ गठबंधन से ज्यादा कुछ हासिल तो नहीं कर पाए लेकिन चुनाव के बाद उन्होंने हमें बिलकुल ही रिस्पॉन्ड करना बंद कर दिया और इसलिए हमने उनसे अलग होने का निर्णय लिया है।

mayawati bsp leader

बीजेपी का साथ देंगे

मायावती ने यह भी कहा है कि हमारी पार्टी ने यह फैसला किया है कि यूपी में भविष्य में होने वाले विधान परिषद चुनाव में सपा प्रत्याशी को हम अपनी जी जान लगाकर हराने की कोशिश करेंगे उसके लिए भले हमे बीजेपी प्रत्याशी या किसी अन्य पार्टी के प्रत्याशी को ही वोट क्यों न देना पड़े लेकिन हम देंगे और सपा को हराकर रहेंगे।

बसपा के बागी विधायक

वहीं यूपी में राज्यसभा चुनाव के समय बसपा- बहुजन समाजवादी पार्टी के विधायकों का बगावत करने के बाद सियासत गरमा चुकी है । राज्यसभा चुनाव में बगावत करने वाले विधायकों को बीएसपी से निलंबित कर दिया गया है। बीएसपी ने विधायक सुषमा पटेल- मुंगरा बादशाहपुर ,वंदना सिंह -सगड़ी आजमगढ़, असलम राइनी- भिनगा श्रावस्ती ,असलम अली- ढोलना हापुर,
मुज्तबा सिद्धकी- प्रतापपुर इलाहाबाद ,हाकिम लाल बिंद- हंडिया प्रयागराज, हर गोविंद भार्गव- सिधौली सीतापुर इन सभी विधायकों को बीएसपी अध्यक्ष मायावती ने अपने पार्टी बहुजन समाज पार्टी निलंबित करने का ऐलान किया है।

बसपा ने अपने प्रत्याशी का नामांकन बचा लिया

उनका कहना है कि बसपा पार्टी के साथ विधायक बगावत पर उतर आए थे और समाजवादी पार्टी में चले गए थे । इसके बाद बसपा ने अपनी प्रत्याशी का नामांकन किसी भी तरह बचा लिया है। और अब उनका निर्विरोध राज्यसभा में जाना तय हो गया है ।मायावती ने कहा है कि आगे आने वाली किसी भी चुनाव में बसपा सपा प्रत्याशी के खिलाफ वोट करेगी ,चाहे उसे बीजेपी या किसी अन्य पार्टी की का समर्थन क्यों ना करना पड़े।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments