Tuesday, October 4, 2022
spot_img
HomeChhattisgarh Newsमेडिकल कॉलेज ही निकला फर्जी डायरेक्टर पर केस दर्ज

मेडिकल कॉलेज ही निकला फर्जी डायरेक्टर पर केस दर्ज

310 छात्रों के पांच करोड़ फंसे भविष्य भी अंधकारमय क्योंकि 2 साल से ही नहीं ली परीक्षा कोर्स भी अधूरा !

पिछले महीने से न्याय की मांग के लिए प्रशासन के चक्कर काट रहे है साईनाथ पैरामेडिकल कॉलेज की छात्रों को थोड़ी राहत मिली है पुलिस ने साईनाथ पैरामेडिकल कॉलेज को फर्जी मानते हुए उसे संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी करने का अपराध दर्ज किया है आरोपी ने कॉलेज को मध्य प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय से संबंध बताकर छात्र-छात्राओं को प्रवेश दिया और एडमिशन व अन्य फीस के नाम पर करीब 5 करोड रुपए वसूले इसके बाद विद्यार्थी की परीक्षा नहीं ली इसके बाद छात्र-छात्राओं ने प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए पुलिस के अलावा प्रशासन के कई चक्कर काटे पुलिस ने कॉलेज के संचालक नागेंद्र पांडे के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है लेकिन आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है

कॉलेज में कुल 310 विद्यार्थी थे मान्यता नहीं होने के बावजूद कॉलेज प्रबंधन ने धोखे से उन्हें प्रवेश देकर फीस के नाम पर करीब 5 करोड रुपए कमा लिए लेकिन उन सभी विद्यार्थियों का भविष्य बिगाड़ दिया उनका कोर्स अधूरा रह गया पैसा और समय दोनों बर्बाद हो गया

देवपुरी स्थित साईनाथ पैरामेडिकल कॉलेज में बृजेश कुमार ऋषभ कुमार रवि पुजारी जनार्दन साहू विवेक गिलहरे आदि सहित 310 विद्यार्थियों ने पैरामेडिकल के विभिन्न पाठ्यक्रम में प्रवेश किया प्रवेश देते समय कॉलेज के संचालक नागेंद्र पांडे राहुल द्विवेदी मैनेजर दिव्या टंडन और वीके त्रिपाठी ने कॉलेज को मध्य प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय संबंध बताया था इस कारण विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया प्रवेश शुल्क के अलावा अन्य शुल्क वसूले गए अब पढ़ाई शुरू हुई लेकिन वार्षिक परीक्षा नहीं ली फिर वर्ष 2020 में कोरोना का बहाना करके परीक्षा नहीं दी और 2021 में भी परीक्षा नहीं ली इसके बाद छात्रों ने परीक्षा कराने की मांग की तो कॉलेज प्रबंधन उन्हें धमकाने लगा अपनी शिकायत को लेकर थाने में मामला दर्ज कराया

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments