Wednesday, February 8, 2023
HomeTrending NewsNoida Shrikant Tyagi Released From Jail After Getting Bail News In Hindi...

Noida Shrikant Tyagi Released From Jail After Getting Bail News In Hindi – Noida: जमानत मिलने पर जेल से छूटा श्रीकांत त्यागी, महिला से बदसलूकी के बाद हुआ था गिरफ्तार


आरोपी श्रीकांत त्यागी

आरोपी श्रीकांत त्यागी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

नोएडा की ओमेक्स सिटी में महिला से बदसलूकी के बाद गिरफ्तार हुआ श्रीकांत त्यागी गुरुवार शाम जेल से छूट गया। उसकी जमानत मंजूर हो गई है। श्रीकांत त्यागी जेल से छूटने के बाद ओमेक्स सिटी स्थित अपने फ्लैट के लिए रवाना हो गया।

जेल से छूटने के बाद श्रीकांत त्यागी ने अपने समाज का आभार जताया है। उसने कहा कि समाज ने इस संकट की घड़ी में उसका साथ दिया, जिसके लिए वह आभारी है।

श्रीकांत त्यागी को सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिली थी। कोर्ट ने त्यागी की जमानत अर्जी मंजूर करते हुए उसे रिहा करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि याची को निजी मुचलके और दो प्रतिभूतियों पर रिहा किया जाए। याची पर नोएडा की एक चर्चित सोसायटी में महिला के साथ बदसलूकी करने का आरोप था। याची मामले में नौ अगस्त से जेल में बंद था। 

त्यागी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता जीएस चतुर्वेदी, अमृता राय मिश्रा एवं आलोक रंजन मिश्रा ने पक्ष रखा। कहा कि याची को जानबूझकर झूठा फंसाया गया है। वह निर्दोष है। हालांकि सरकारी अधिवक्ता ने उसका विरोध किया। कहा कि याची के खिलाफ सबूत हैं। लेकिन कोर्ट ने तथ्यों और परिस्थितियों को देखते हुए याची की जमानत अर्जी मंजूर कर उसे जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया।

विस्तार

नोएडा की ओमेक्स सिटी में महिला से बदसलूकी के बाद गिरफ्तार हुआ श्रीकांत त्यागी गुरुवार शाम जेल से छूट गया। उसकी जमानत मंजूर हो गई है। श्रीकांत त्यागी जेल से छूटने के बाद ओमेक्स सिटी स्थित अपने फ्लैट के लिए रवाना हो गया।

जेल से छूटने के बाद श्रीकांत त्यागी ने अपने समाज का आभार जताया है। उसने कहा कि समाज ने इस संकट की घड़ी में उसका साथ दिया, जिसके लिए वह आभारी है।

श्रीकांत त्यागी को सोमवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट से जमानत मिली थी। कोर्ट ने त्यागी की जमानत अर्जी मंजूर करते हुए उसे रिहा करने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा कि याची को निजी मुचलके और दो प्रतिभूतियों पर रिहा किया जाए। याची पर नोएडा की एक चर्चित सोसायटी में महिला के साथ बदसलूकी करने का आरोप था। याची मामले में नौ अगस्त से जेल में बंद था। 

त्यागी की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता जीएस चतुर्वेदी, अमृता राय मिश्रा एवं आलोक रंजन मिश्रा ने पक्ष रखा। कहा कि याची को जानबूझकर झूठा फंसाया गया है। वह निर्दोष है। हालांकि सरकारी अधिवक्ता ने उसका विरोध किया। कहा कि याची के खिलाफ सबूत हैं। लेकिन कोर्ट ने तथ्यों और परिस्थितियों को देखते हुए याची की जमानत अर्जी मंजूर कर उसे जमानत पर रिहा करने का आदेश दिया।





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img