Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsS Jaishankar Recalled India Operation Ganga In The Midst Of The Russia-ukraine...

S Jaishankar Recalled India Operation Ganga In The Midst Of The Russia-ukraine War – S Jaishankar: विदेश मंत्री ने सुनाई ‘ऑपरेशन गंगा’ की कहानी, जब पीएम मोदी ने लगाया था पुतिन और जेलेंस्की को फोन


विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर

विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच भारत द्वारा चलाए गए ‘ऑपरेशन गंगा’ को याद किया। उन्होंने गुजरात के सूरत में एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युद्धग्रस्त क्षेत्र से भारतीय छात्रों को अपनी सरजमीं पर सुरक्षित लाने में सफल रहे।  

विदेश मंत्री ने कहा, इसी साल फरवरी के आखिरी सप्ताह में जब रूस ने यूक्रेन पर हमला बोला, तो वहां पर बड़ा मानवीय संकट खड़ा हो गया। ऐसे में भारत ने ऑपरेशन गंगा चलाकर यूक्रेन से 22,500 भारतीयों  को सुरक्षित निकाला। इनमें से ज्यादातर कॉलेज छात्र थे, जो यूक्रेन के अलग-अलग कॉलेजों में पढ़ाई कर रहे थे। 

मोदी@20 समारोह में विदेश मंत्री ने कहा, यूक्रेन के सूमी और खारकीव में जब हमले तेज हुए, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन और यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की से फोन पर बात की और उनसे कहा कि वहां हमारे छात्र फंसे हुए थे। इस दौरान उन्होंने छात्रों को सुरक्षित निकालने तक गोलीबारी की एक भी घटना न होने का आश्वासन मांगा और ऐसा ही हुआ। 

कार्यक्रम में जयशंकर ने कहा, जब दुनिया के कई देश कोरोना महामारी, जलवायु परिवर्तन, रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण पिछड़ते जा रहे हैं, ऐसे समय में भारत दुनियाभर में एक मजबूत कारोबारी धारणा को पेश कर रहा है। 

विस्तार

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच भारत द्वारा चलाए गए ‘ऑपरेशन गंगा’ को याद किया। उन्होंने गुजरात के सूरत में एक कार्यक्रम के दौरान बताया कि कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी युद्धग्रस्त क्षेत्र से भारतीय छात्रों को अपनी सरजमीं पर सुरक्षित लाने में सफल रहे।  

विदेश मंत्री ने कहा, इसी साल फरवरी के आखिरी सप्ताह में जब रूस ने यूक्रेन पर हमला बोला, तो वहां पर बड़ा मानवीय संकट खड़ा हो गया। ऐसे में भारत ने ऑपरेशन गंगा चलाकर यूक्रेन से 22,500 भारतीयों  को सुरक्षित निकाला। इनमें से ज्यादातर कॉलेज छात्र थे, जो यूक्रेन के अलग-अलग कॉलेजों में पढ़ाई कर रहे थे। 

मोदी@20 समारोह में विदेश मंत्री ने कहा, यूक्रेन के सूमी और खारकीव में जब हमले तेज हुए, तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस के राष्ट्रपति पुतिन और यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की से फोन पर बात की और उनसे कहा कि वहां हमारे छात्र फंसे हुए थे। इस दौरान उन्होंने छात्रों को सुरक्षित निकालने तक गोलीबारी की एक भी घटना न होने का आश्वासन मांगा और ऐसा ही हुआ। 

कार्यक्रम में जयशंकर ने कहा, जब दुनिया के कई देश कोरोना महामारी, जलवायु परिवर्तन, रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण पिछड़ते जा रहे हैं, ऐसे समय में भारत दुनियाभर में एक मजबूत कारोबारी धारणा को पेश कर रहा है। 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img