Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsBf.7 :चीन में हाहाकार के बीच भारत में मिले ओमिक्रॉन सबवैरिएंट Bf.7...

Bf.7 :चीन में हाहाकार के बीच भारत में मिले ओमिक्रॉन सबवैरिएंट Bf.7 के तीन मामले, केंद्र सरकार हुई अलर्ट – Three Cases Of Omicron Subvariant Bf.7 Driving China Covid Surge Detected In India


भारत में कोरोना

भारत में कोरोना
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

चीन समेत दुनियाभर के कई देशों में कोरोना एक बार फिर बढ़ते हाहाकार के भी बीच भारत में भी एक चिंता बढ़ाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, चीन में एक बार फिर कोरोना के बिगड़ते हालात के लिए ओमिक्रॉन का सबवैरिएंट BF.7 को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। वहीं, अब ओमिक्रॉन का सबवैरिएंट BF.7 के तीन मामले भारत में भी पाए गए हैं। जिसके बाद केंद्र सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय सतर्क हो गया है। 

इन राज्यों से सामने आए मामले
जानकारी के मुताबिक, गुजरात जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र द्वारा अक्तूबर में भारत में BF.7 के पहले मामले का पता चला था। उन्होंने कहा कि अब तक गुजरात से दो मामले सामने आए हैं जबकि ओडिशा से एक मामला सामने आया है।

विश्व में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया की अध्यक्षता में बुधवार को कोविड समीक्षा बैठक भी हुई। बैठक के दौरान विशेषज्ञों ने कहा कि हालांकि अभी तक कोविड मामलों की संख्या में कोई बड़ी वृद्धि नहीं हुई है, लेकिन मौजूदा और उभरते सब वैरिएंट्स पर नजर रखने के लिए निरंतर निगरानी की आवश्यकता है।

चीन में बढ़ रहे कोरोना मामलों के लिए जिम्मेदार है BF.7 वैरिएंट
गौरतलब है कि चीन के कई शहरों में वर्तमान में अत्यधिक तेजी से ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BF.7  के मामले बढ़ रहे हैं। इसके सबसे ज्यादा मामले बीजिंग में सामने आ रहे हैं। चीन में BF.7 की उच्च संप्रेषणीयता को पिछले संक्रमण से चीनी आबादी में प्रतिरक्षा के निम्न स्तर और संभवतः टीकाकरण के लिए भी जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। इस सब वैरिएंट के मामले अमेरिका, ब्रिटेन और बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और डेनमार्क जैसे यूरोपीय देशों सहित कई अन्य देशों में पहले ही पाया जा चुका है।

पश्चिम बंगाल कोविड-19 की नयी लहर से निपटने के लिए तैयार: राज्य स्वास्थ्य विभाग
वैश्विक परिप्रेक्ष्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि वह कोविड-19 की किसी भी संभावित लहर से निपटने के लिए तैयार है। पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने कहा कि राज्य में कोविड-19 का प्रसार नहीं होने देने के लिए नियमित रूप से जांच और निगरानी की जा रही है।
उन्होंने कहा कि हम राज्य में किसी भी संभावित स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। चीजें नियंत्रण में हैं, लेकिन हम एहतियात बरतना जारी रख रहे हैं।

विस्तार

चीन समेत दुनियाभर के कई देशों में कोरोना एक बार फिर बढ़ते हाहाकार के भी बीच भारत में भी एक चिंता बढ़ाने वाली खबर सामने आई है। दरअसल, चीन में एक बार फिर कोरोना के बिगड़ते हालात के लिए ओमिक्रॉन का सबवैरिएंट BF.7 को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। वहीं, अब ओमिक्रॉन का सबवैरिएंट BF.7 के तीन मामले भारत में भी पाए गए हैं। जिसके बाद केंद्र सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय सतर्क हो गया है। 

इन राज्यों से सामने आए मामले

जानकारी के मुताबिक, गुजरात जैव प्रौद्योगिकी अनुसंधान केंद्र द्वारा अक्तूबर में भारत में BF.7 के पहले मामले का पता चला था। उन्होंने कहा कि अब तक गुजरात से दो मामले सामने आए हैं जबकि ओडिशा से एक मामला सामने आया है।

विश्व में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया की अध्यक्षता में बुधवार को कोविड समीक्षा बैठक भी हुई। बैठक के दौरान विशेषज्ञों ने कहा कि हालांकि अभी तक कोविड मामलों की संख्या में कोई बड़ी वृद्धि नहीं हुई है, लेकिन मौजूदा और उभरते सब वैरिएंट्स पर नजर रखने के लिए निरंतर निगरानी की आवश्यकता है।

चीन में बढ़ रहे कोरोना मामलों के लिए जिम्मेदार है BF.7 वैरिएंट

गौरतलब है कि चीन के कई शहरों में वर्तमान में अत्यधिक तेजी से ओमिक्रॉन के सब वैरिएंट BF.7  के मामले बढ़ रहे हैं। इसके सबसे ज्यादा मामले बीजिंग में सामने आ रहे हैं। चीन में BF.7 की उच्च संप्रेषणीयता को पिछले संक्रमण से चीनी आबादी में प्रतिरक्षा के निम्न स्तर और संभवतः टीकाकरण के लिए भी जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। इस सब वैरिएंट के मामले अमेरिका, ब्रिटेन और बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और डेनमार्क जैसे यूरोपीय देशों सहित कई अन्य देशों में पहले ही पाया जा चुका है।

पश्चिम बंगाल कोविड-19 की नयी लहर से निपटने के लिए तैयार: राज्य स्वास्थ्य विभाग

वैश्विक परिप्रेक्ष्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने कहा है कि वह कोविड-19 की किसी भी संभावित लहर से निपटने के लिए तैयार है। पश्चिम बंगाल स्वास्थ्य विभाग के निदेशक डॉ. सिद्धार्थ नियोगी ने कहा कि राज्य में कोविड-19 का प्रसार नहीं होने देने के लिए नियमित रूप से जांच और निगरानी की जा रही है।

उन्होंने कहा कि हम राज्य में किसी भी संभावित स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं। चीजें नियंत्रण में हैं, लेकिन हम एहतियात बरतना जारी रख रहे हैं।





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img