Wednesday, February 1, 2023
HomeTrending NewsZelensky Us Visit:अमेरिका में बोले जेलेंस्की- साल 2023 साबित होगा टर्निंग प्वॉइंट,...

Zelensky Us Visit:अमेरिका में बोले जेलेंस्की- साल 2023 साबित होगा टर्निंग प्वॉइंट, झुकने का सवाल ही नहींं – Ukrainian President Volodymyr Zelensky Grand Welcome In Us Congress Says Will Never Surrender


यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की और अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन
यूक्रेनी राष्ट्रपति जेलेंस्की और अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडन
– फोटो : [email protected] Joe Biden

ख़बर सुनें

यूक्रेन और रूस के बीच चल रही जंग के बीच यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोडिमीर जेलेंस्की ने व्हाइट हाउस में संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से मुलाकात की है। मुलाकात के दौरान जेलेंस्की का जोरदार स्वागत किया गया। फरवरी में रूसी हमलों के शुरू होने के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की पहली बार अमेरिका दौरे पर पहुंचे हैं। राष्ट्रपति बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन ने उनका व्हाइट हाउस में स्वागत किया। इतना ही नहीं जेलेंस्की के स्वागत में अमेरिकी सांसदों ने खड़ा होकर हौसला अफजाई किया। इसी के साथ अमेरिका ने यूक्रेन के लिए 1.8 बिलियन डॉलर की अतिरिक्त सैन्य सहायता देने का एलान किया है। इसके लिए जेलेंस्की ने बाइडन का आभार भी जताया। 

झुकने का सवाल ही नहीं: जेलेंस्की
मुलाकात के बाद दोनों ही देशों की तरफ से बयान भी जारी किए गए। इस दौरान जेलेंस्की ने साफ किया कि बातचीत से मसला सुलझाया जाना चाहिए। अगर कोई देश युद्ध के जरिए झुकाने की कोशिश करेगा तो हम कभी सरेंडर नहीं करने वाले हैं। उन्होंने यह भी कहा कि साल 2023 टर्निंग प्वॉइंट साबित होने वाला है। हम संकट का डटकर मुकाबला करेंगे। जेलेंस्की ने चेतावनी दी कि संघर्ष का दांव उनके राष्ट्र के भाग्य से कहीं अधिक बड़ा था। दुनिया भर में लोकतंत्र का परीक्षण किया जा रहा है। इस लड़ाई को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है, उम्मीद है कि हमें और जगह से सुरक्षा मिलेगी।

जेलेंस्की ने अमेरिकी पैकेज पर जताया आभार 
अमेरिका से मिली मदद पर जेलेंस्की ने कहा, मैं अमेरिकी कांग्रेस को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं। बहुत बहुत धन्यवाद, मिस्टर प्रेसीडेंट। कांग्रेस को धन्यवाद, और हमारे लोगों की तरफ से आपके सामान्य लोगों को धन्यवाद, अमेरिकियों को धन्यवाद। उन्होंने कहा, वार्ता का मुख्य फोकस यूक्रेन को मजबूत करना था और मुझे यूक्रेन को मिले अमेरिकी पैकेज की वजह से स्वदेश लौटने की अच्छी खबर मिलेगी। इस पैकेज का सबसे मजबूत तत्व देशभक्त हैं। जेलेंस्की ने अमेरिका से मिले 1.8 बिलियन डॉलर पैकेज सहायता पर कहा कि यह यूक्रेन के लिए सुरक्षित हवाई क्षेत्र बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और यह एकमात्र तरीका होगा जिससे हम आतंकवादी देश को हमारे ऊर्जा क्षेत्र, हमारे लोगों और हमारे बुनियादी ढांचे पर हमला करने से वंचित कर पाएंगे। 

पूरी चर्चा के दौरान दोनों नेता एक-दूसरे की टिप्पणियों पर हंसते हुए नजर आए
पूरी चर्चा के दौरान दोनों नेता एक-दूसरे की टिप्पणियों पर हंसते हुए और एक-दूसरे की पीठ थपथपाते हुए एक गर्म तालमेल साझा करते दिखाई दिए, हालांकि जेलेंस्की ने स्पष्ट किया कि वह बाइडन और अन्य पश्चिमी नेताओं पर हमेशा और अधिक समर्थन के लिए दबाव डालना जारी रखेंगे।

बाइडन बोले- नाटो कभी इतना एकजुट नहीं था
इस मौके पर जो बाइडन ने कहा- मुझे गठबंधन, नाटो और यूरोपीय संघ, साथ ही अन्य राष्ट्रों को एक साथ रखने के बारे में बिल्कुल भी चिंता नहीं है। मैंने कभी भी नाटो और यूरोपीय संघ को किसी भी चीज के बारे में इतना अधिक एकजुट नहीं देखा है, और मुझे इसमें बदलाव का कोई संकेत नहीं दिखता है।  मुझे लगता है कि यह दो दिन पहले की बात है, पुतिन कह रहे थे कि जितना उन्होंने सोचा था, यह उससे कहीं अधिक कठिन निकला। उन्होंने सोचा कि वह नाटो, पश्चिम को तोड़ सकते हैं, गठबंधन को तोड़ सकते हैं, उन्होंने सोचा कि रूसी बोलने वाले यूक्रेनी लोगों द्वारा उसका स्वागत किया जाएगा, वह गलत, गलत और गलत थे।  

विस्तार

यूक्रेन और रूस के बीच चल रही जंग के बीच यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोडिमीर जेलेंस्की ने व्हाइट हाउस में संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन से मुलाकात की है। मुलाकात के दौरान जेलेंस्की का जोरदार स्वागत किया गया। फरवरी में रूसी हमलों के शुरू होने के बाद यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की पहली बार अमेरिका दौरे पर पहुंचे हैं। राष्ट्रपति बाइडन और उनकी पत्नी जिल बाइडन ने उनका व्हाइट हाउस में स्वागत किया। इतना ही नहीं जेलेंस्की के स्वागत में अमेरिकी सांसदों ने खड़ा होकर हौसला अफजाई किया। इसी के साथ अमेरिका ने यूक्रेन के लिए 1.8 बिलियन डॉलर की अतिरिक्त सैन्य सहायता देने का एलान किया है। इसके लिए जेलेंस्की ने बाइडन का आभार भी जताया। 

झुकने का सवाल ही नहीं: जेलेंस्की

मुलाकात के बाद दोनों ही देशों की तरफ से बयान भी जारी किए गए। इस दौरान जेलेंस्की ने साफ किया कि बातचीत से मसला सुलझाया जाना चाहिए। अगर कोई देश युद्ध के जरिए झुकाने की कोशिश करेगा तो हम कभी सरेंडर नहीं करने वाले हैं। उन्होंने यह भी कहा कि साल 2023 टर्निंग प्वॉइंट साबित होने वाला है। हम संकट का डटकर मुकाबला करेंगे। जेलेंस्की ने चेतावनी दी कि संघर्ष का दांव उनके राष्ट्र के भाग्य से कहीं अधिक बड़ा था। दुनिया भर में लोकतंत्र का परीक्षण किया जा रहा है। इस लड़ाई को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है, उम्मीद है कि हमें और जगह से सुरक्षा मिलेगी।

जेलेंस्की ने अमेरिकी पैकेज पर जताया आभार 

अमेरिका से मिली मदद पर जेलेंस्की ने कहा, मैं अमेरिकी कांग्रेस को उनके समर्थन के लिए धन्यवाद देता हूं। बहुत बहुत धन्यवाद, मिस्टर प्रेसीडेंट। कांग्रेस को धन्यवाद, और हमारे लोगों की तरफ से आपके सामान्य लोगों को धन्यवाद, अमेरिकियों को धन्यवाद। उन्होंने कहा, वार्ता का मुख्य फोकस यूक्रेन को मजबूत करना था और मुझे यूक्रेन को मिले अमेरिकी पैकेज की वजह से स्वदेश लौटने की अच्छी खबर मिलेगी। इस पैकेज का सबसे मजबूत तत्व देशभक्त हैं। जेलेंस्की ने अमेरिका से मिले 1.8 बिलियन डॉलर पैकेज सहायता पर कहा कि यह यूक्रेन के लिए सुरक्षित हवाई क्षेत्र बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है और यह एकमात्र तरीका होगा जिससे हम आतंकवादी देश को हमारे ऊर्जा क्षेत्र, हमारे लोगों और हमारे बुनियादी ढांचे पर हमला करने से वंचित कर पाएंगे। 

पूरी चर्चा के दौरान दोनों नेता एक-दूसरे की टिप्पणियों पर हंसते हुए नजर आए

पूरी चर्चा के दौरान दोनों नेता एक-दूसरे की टिप्पणियों पर हंसते हुए और एक-दूसरे की पीठ थपथपाते हुए एक गर्म तालमेल साझा करते दिखाई दिए, हालांकि जेलेंस्की ने स्पष्ट किया कि वह बाइडन और अन्य पश्चिमी नेताओं पर हमेशा और अधिक समर्थन के लिए दबाव डालना जारी रखेंगे।

बाइडन बोले- नाटो कभी इतना एकजुट नहीं था

इस मौके पर जो बाइडन ने कहा- मुझे गठबंधन, नाटो और यूरोपीय संघ, साथ ही अन्य राष्ट्रों को एक साथ रखने के बारे में बिल्कुल भी चिंता नहीं है। मैंने कभी भी नाटो और यूरोपीय संघ को किसी भी चीज के बारे में इतना अधिक एकजुट नहीं देखा है, और मुझे इसमें बदलाव का कोई संकेत नहीं दिखता है।  मुझे लगता है कि यह दो दिन पहले की बात है, पुतिन कह रहे थे कि जितना उन्होंने सोचा था, यह उससे कहीं अधिक कठिन निकला। उन्होंने सोचा कि वह नाटो, पश्चिम को तोड़ सकते हैं, गठबंधन को तोड़ सकते हैं, उन्होंने सोचा कि रूसी बोलने वाले यूक्रेनी लोगों द्वारा उसका स्वागत किया जाएगा, वह गलत, गलत और गलत थे।  





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img