Saturday, January 28, 2023
HomeTrending NewsUttarkashi : China Border Is Now Only 200 Meters Away From The...

Uttarkashi : China Border Is Now Only 200 Meters Away From The Road – Uttarkashi : सड़क से अब महज 200 मीटर दूर रह गई चीन सीमा, बीआरओ जुटी है निर्माण कार्य में


demo pic...

demo pic…
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

बीआरओ चीन सीमा पर सड़कों का जाल बिछा रहा है। चीन सीमा के 200 मीटर समीप तक सड़क निर्माण किया जा चुका है। अब इस नवनिर्मित सड़क पर ब्लैक टॉप का कार्य किया जाना है। इसके अलावा एक और सड़क निर्माणाधीन है जिसे भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण चीन सीमा पर बीआरओ कई सड़कों का निर्माण कर रहा है। इसी वर्ष बीआरओ के दो प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली थी जिनमें एक सड़क 16 किमी व एक 17 किमी लंबी थी। 16 किमी लंबी सड़क पर इसी वर्ष जुलाई से कार्य शुरू हुआ था जिसका कटिंग कार्य पूर्ण हो चुका है। अब इस सड़क पर ब्लैक टॉप का कार्य किया जाना है। सड़क के अंतिम छोर से मात्र करीब 200 मीटर आगे चीन सीमा है। वहीं 17 किमी लंबी सड़क पर भी कटिंग कार्य काफी हो चुका है। सड़क के अंतिम छोर से भी मात्र 300 मीटर आगे चीन सीमा है। 

बीआरओ का कहना है कि जल्द ही सड़क निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। वहीं भैरव घाटी से नेलांग तक करीब 23 किमी का सड़क निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इस पूरे दायरे में सात मीटर ब्लैक टॉप सड़क का निर्माण किया गया है जिससे अब निर्बाध रूप से सेना के बड़े वाहन यहां आवाजाही कर सकते हैं। संवाद

सीमा पर चल रहा है कई पुलों का निर्माण
सीमा पर बीआरओ कई पुलों का निर्माण भी कर रहा है। पागल नाले पर एक पुल का निर्माण कार्य पूर्ण भी हो चुका है जिसका करीब एक माह पहले उद्घाटन भी हो चुका है। अभी चार पुल निर्माणाधीन हैं। भारत माला प्रोजेक्ट के तहत अब मंडी तक डबल लेन सड़क का निर्माण होगा। जल्द ही इसकी डीपीआर तैयार की जाएगी।

बार्डर पर कुछ सड़कों के निर्माण की स्वीकृति मिली थी जिनका कटिंग कार्य चल रहा है। एक सड़क का कटिंग कार्य पूर्ण हो चुका है। वहीं भैरव घाटी से नेलांग तक निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। इसका उद्घाटन होना है। 
-मेजर बीनू वीसी, बीआरओ

विस्तार

बीआरओ चीन सीमा पर सड़कों का जाल बिछा रहा है। चीन सीमा के 200 मीटर समीप तक सड़क निर्माण किया जा चुका है। अब इस नवनिर्मित सड़क पर ब्लैक टॉप का कार्य किया जाना है। इसके अलावा एक और सड़क निर्माणाधीन है जिसे भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण चीन सीमा पर बीआरओ कई सड़कों का निर्माण कर रहा है। इसी वर्ष बीआरओ के दो प्रोजेक्ट को मंजूरी मिली थी जिनमें एक सड़क 16 किमी व एक 17 किमी लंबी थी। 16 किमी लंबी सड़क पर इसी वर्ष जुलाई से कार्य शुरू हुआ था जिसका कटिंग कार्य पूर्ण हो चुका है। अब इस सड़क पर ब्लैक टॉप का कार्य किया जाना है। सड़क के अंतिम छोर से मात्र करीब 200 मीटर आगे चीन सीमा है। वहीं 17 किमी लंबी सड़क पर भी कटिंग कार्य काफी हो चुका है। सड़क के अंतिम छोर से भी मात्र 300 मीटर आगे चीन सीमा है। 

बीआरओ का कहना है कि जल्द ही सड़क निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। वहीं भैरव घाटी से नेलांग तक करीब 23 किमी का सड़क निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। इस पूरे दायरे में सात मीटर ब्लैक टॉप सड़क का निर्माण किया गया है जिससे अब निर्बाध रूप से सेना के बड़े वाहन यहां आवाजाही कर सकते हैं। संवाद

सीमा पर चल रहा है कई पुलों का निर्माण

सीमा पर बीआरओ कई पुलों का निर्माण भी कर रहा है। पागल नाले पर एक पुल का निर्माण कार्य पूर्ण भी हो चुका है जिसका करीब एक माह पहले उद्घाटन भी हो चुका है। अभी चार पुल निर्माणाधीन हैं। भारत माला प्रोजेक्ट के तहत अब मंडी तक डबल लेन सड़क का निर्माण होगा। जल्द ही इसकी डीपीआर तैयार की जाएगी।

बार्डर पर कुछ सड़कों के निर्माण की स्वीकृति मिली थी जिनका कटिंग कार्य चल रहा है। एक सड़क का कटिंग कार्य पूर्ण हो चुका है। वहीं भैरव घाटी से नेलांग तक निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। इसका उद्घाटन होना है। 

-मेजर बीनू वीसी, बीआरओ





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img