Friday, December 2, 2022
HomeTrending NewsVladimir Putin Blames Ukraine Secret Services For Crimea Bridge Blast, Denounces Terrorist...

Vladimir Putin Blames Ukraine Secret Services For Crimea Bridge Blast, Denounces Terrorist Act – Crimean Bridge: पुतिन ने पुल विस्फोट के लिए यूक्रेन की गुप्त सेवाओं को जिम्मेदार ठहराया, हमले की निंदा की


क्रीमिया पुल।

ख़बर सुनें

रूस-यूक्रेन जंग अब एक भीषण दौर में पहुंच गई है जहां रूसी सेना को लगातार क्षति और शिकस्त का सामना करना पड़ रहा है। शनिवार को रूस और क्रीमिया को जोड़ने वाले पुल पर एक ट्रक में रखे विस्फोटकों में आग लग गई जिससे पुल का आधा हिस्सा समुद्र में गिर गया। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया पुल विस्फोट के लिए यूक्रेन की गुप्त सेवाओं को जिम्मेदार ठहराया है और ‘आतंकवादी कृत्य’ की निंदा की है। 

क्रेमलिन द्वारा साझा किए गए एक वीडियो के अनुसार, जांच समिति के प्रमुख के साथ बैठक के दौरान पुतिन ने कहा कि इस विस्फोट की पटकथा लिखने वाला, अपराधी और प्रायोजक यूक्रेन की गुप्त सेवाएं हैं। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह एक आतंकवादी घटना है, जिसका उद्देश्य महत्वपूर्ण रूसी नागरिक बुनियादी ढांचे को नष्ट करना था। हालांकि यूक्रेन ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है।

मॉस्को के लिए यह पुल रसद आपूर्ति के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यूक्रेन में लड़ रहे रूसी सैनिकों के लिए सैन्य उपकरण ले जाने के लिए यह एक महत्वपूर्ण परिवहन लिंक है। क्रीमिया प्रायद्वीप रूस के लिए प्रतीकात्मक महत्व रखता है और दक्षिण में उसके सैन्य अभियानों के लिए बेहद अहम है। पुल के टूटने से प्रायद्वीप पर सैन्य रसद चुनौतीपूर्ण हो जाएगी।

पुतिन ने कड़ी की सुरक्षा
व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया के पास केर्च ब्रिज और ऊर्जा बुनियादी ढांचे के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी है। सुरक्षा सेवा को इसकी देखरेख की जिम्मेदारी दी गई है।राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया पुल के लिए सुरक्षा उपायों को बढ़ाने पर एक आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं। पुल पर विस्फोट में कम से कम तीन लोग मारे गए थे। पुतिन ने क्रीमिया को रूस से जोड़ने वाले ऊर्जा पुल और गैस पाइपलाइन को सुरक्षित करने का भी आह्वान किया।

क्रीमिया और रूस के बीच यातायात पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध
इससे पहले शनिवार को रूस के परिवहन मंत्रालय ने बताया था कि क्रीमिया पुल के बचे हुए अन्य लेन पर कारों और बसों के लिए सीमित सड़क यातायात फिर से शुरू हो गया है।मंत्रालय ने आगे कहा कि सुरक्षा कारणों से वैकल्पिक दिशाओं में क्रीमिया और रूस के बीच यातायात को अस्थायी रूप से प्रतिबंधित किया जाएगा। अल जजीरा ने बताया कि इसके अलावा, क्रीमिया प्रायद्वीप में रूसी-नियुक्त गवर्नर सर्गेई अक्स्योनोव (Sergei Aksyonov) ने सोशल मीडिया पर कहा कि भारी माल वाहनों को नौका से पार करने के लिए इंतजार करना होगा। क्रीमिया पुल पर एक ईंधन टैंक में आग लगने के बाद सड़क और रेल पुल पर यातायात को निलंबित कर दिया गया था। बता दें कि मॉस्को द्वारा क्रीमिया पर कब्जा करने के चार साल बाद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा 2018 में पुल को खोला गया था और इसे क्रीमिया को रूस के परिवहन नेटवर्क से जोड़ने के लिए डिजाइन किया गया था।

उधर, पूर्वी यूक्रेन का खारकीव शहर शनिवार तड़के कई धमाकों से दहल गया। ये धमाके रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के 70 वर्ष के होने के एक दिन बाद हुए जो उनके लिए बड़ा झटका हैं, क्योंकि इसी रास्ते से उनकी सेना यूक्रेन के लिए आगे बढ़ रही थी। रूसी राष्ट्रीय आतंक-रोधी समिति ने पुष्टि की, ट्रक में धमाके के कारण ईंधन ले जा रही सात रेलवे कारों में भी आग लग गई और पुल दो भागों में टूटकर गिर गया। वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि 12 मील लंबा केर्च स्ट्रेट ब्रिज पर आग की तेज लपटें उठ रही हैं और ऊपर धुएं के बादल उठ रहे हैं। इस पुल को नाटो देश अवैध निर्माण बताते रहे हैं जो क्रीमिया में रूसी सेना की आपूर्ति के लिए मुख्य प्रवेश द्वार रहा है। 

विस्तार

रूस-यूक्रेन जंग अब एक भीषण दौर में पहुंच गई है जहां रूसी सेना को लगातार क्षति और शिकस्त का सामना करना पड़ रहा है। शनिवार को रूस और क्रीमिया को जोड़ने वाले पुल पर एक ट्रक में रखे विस्फोटकों में आग लग गई जिससे पुल का आधा हिस्सा समुद्र में गिर गया। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया पुल विस्फोट के लिए यूक्रेन की गुप्त सेवाओं को जिम्मेदार ठहराया है और ‘आतंकवादी कृत्य’ की निंदा की है। 

क्रेमलिन द्वारा साझा किए गए एक वीडियो के अनुसार, जांच समिति के प्रमुख के साथ बैठक के दौरान पुतिन ने कहा कि इस विस्फोट की पटकथा लिखने वाला, अपराधी और प्रायोजक यूक्रेन की गुप्त सेवाएं हैं। उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि यह एक आतंकवादी घटना है, जिसका उद्देश्य महत्वपूर्ण रूसी नागरिक बुनियादी ढांचे को नष्ट करना था। हालांकि यूक्रेन ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है।

मॉस्को के लिए यह पुल रसद आपूर्ति के लिए काफी महत्वपूर्ण है। यूक्रेन में लड़ रहे रूसी सैनिकों के लिए सैन्य उपकरण ले जाने के लिए यह एक महत्वपूर्ण परिवहन लिंक है। क्रीमिया प्रायद्वीप रूस के लिए प्रतीकात्मक महत्व रखता है और दक्षिण में उसके सैन्य अभियानों के लिए बेहद अहम है। पुल के टूटने से प्रायद्वीप पर सैन्य रसद चुनौतीपूर्ण हो जाएगी।

पुतिन ने कड़ी की सुरक्षा

व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया के पास केर्च ब्रिज और ऊर्जा बुनियादी ढांचे के लिए सुरक्षा कड़ी कर दी है। सुरक्षा सेवा को इसकी देखरेख की जिम्मेदारी दी गई है।राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने क्रीमिया पुल के लिए सुरक्षा उपायों को बढ़ाने पर एक आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं। पुल पर विस्फोट में कम से कम तीन लोग मारे गए थे। पुतिन ने क्रीमिया को रूस से जोड़ने वाले ऊर्जा पुल और गैस पाइपलाइन को सुरक्षित करने का भी आह्वान किया।

क्रीमिया और रूस के बीच यातायात पर अस्थायी रूप से प्रतिबंध

इससे पहले शनिवार को रूस के परिवहन मंत्रालय ने बताया था कि क्रीमिया पुल के बचे हुए अन्य लेन पर कारों और बसों के लिए सीमित सड़क यातायात फिर से शुरू हो गया है।मंत्रालय ने आगे कहा कि सुरक्षा कारणों से वैकल्पिक दिशाओं में क्रीमिया और रूस के बीच यातायात को अस्थायी रूप से प्रतिबंधित किया जाएगा। अल जजीरा ने बताया कि इसके अलावा, क्रीमिया प्रायद्वीप में रूसी-नियुक्त गवर्नर सर्गेई अक्स्योनोव (Sergei Aksyonov) ने सोशल मीडिया पर कहा कि भारी माल वाहनों को नौका से पार करने के लिए इंतजार करना होगा। क्रीमिया पुल पर एक ईंधन टैंक में आग लगने के बाद सड़क और रेल पुल पर यातायात को निलंबित कर दिया गया था। बता दें कि मॉस्को द्वारा क्रीमिया पर कब्जा करने के चार साल बाद राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा 2018 में पुल को खोला गया था और इसे क्रीमिया को रूस के परिवहन नेटवर्क से जोड़ने के लिए डिजाइन किया गया था।

उधर, पूर्वी यूक्रेन का खारकीव शहर शनिवार तड़के कई धमाकों से दहल गया। ये धमाके रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के 70 वर्ष के होने के एक दिन बाद हुए जो उनके लिए बड़ा झटका हैं, क्योंकि इसी रास्ते से उनकी सेना यूक्रेन के लिए आगे बढ़ रही थी। रूसी राष्ट्रीय आतंक-रोधी समिति ने पुष्टि की, ट्रक में धमाके के कारण ईंधन ले जा रही सात रेलवे कारों में भी आग लग गई और पुल दो भागों में टूटकर गिर गया। वीडियो में स्पष्ट दिख रहा है कि 12 मील लंबा केर्च स्ट्रेट ब्रिज पर आग की तेज लपटें उठ रही हैं और ऊपर धुएं के बादल उठ रहे हैं। इस पुल को नाटो देश अवैध निर्माण बताते रहे हैं जो क्रीमिया में रूसी सेना की आपूर्ति के लिए मुख्य प्रवेश द्वार रहा है। 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img