Wednesday, February 8, 2023
HomeTrending NewsWarangal : Eight-year School Boy Died After Chocolate Stuck In Throat -...

Warangal : Eight-year School Boy Died After Chocolate Stuck In Throat – Warangal : गले में चॉकलेट अटकने से आठ साल के मासूम की दर्दनाक मौत, ऑस्ट्रेलिया से टॉफियां लाए थे पिता


ख़बर सुनें

तेलंगाना के वारंगल से एक दर्दनाक घटना सामने आई है। आठ साल के एक बच्चे की गले में चॉकलेट अटकने से मौत हो गई। बीते दिनों बच्चे के पिता ऑस्ट्रेलिया गए थे और वहां से टॉफियां लेकर आए थे। 
यह दुखद घटना शनिवार को वारंगल के पिनावरी स्ट्रीट के एक स्कूल में हुई। शहर में रहने वाले कंवर सिंह व गीता के चार बच्चे हैं। सिंह बिजली के उपकरणों की दुकान चलाते हैं। बीते दिनों वे ऑस्ट्रेलिया गए थे और वहां से बच्चों के टॉफियां लेकर आए थे। शनिवार को दंपती ने स्कूल जाते वक्त अपने बच्चों को ये चॉकलेट दी थी। उनके दो बेटे व एक बेटी पिनावरी स्ट्रीट में ही चलने वाले एक स्कूल में पढ़ते हैं। 

स्कूल का चढ़ाव चढ़ते वक्त खाई थी टॉफी
उनका आठ साल का बेटा संदीप जब स्कूल की दूसरी मंजिल पर स्थित अपनी कक्षा में जा रहा था तब उसने यह चॉकलेट अपने मुंह में रख ली थी। सीढ़ियां चढ़ते वक्त चॉकलेट उसके गले में अटक गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा। जब दूसरे बच्चों ने उसे गिरा देखा तो उन्होंने स्कूल के शिक्षिकों व प्रबंधन को खबर दी। उसे तत्काल प्राथमिक उपचार देकर उसके माता-पिता को सूचित किया गया। 

सूचना मिलते ही कंवर सिंह स्कूल पहुंचे और गंभीर हालत में संदीप को एमजीएम अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने उसके गले में फंसी टॉफी निकालने का प्रयास किया, लेकिन दम घुटने के कारण बच्चे की मौत हो गई। 

छोटे बच्चों को टॉफी देते वक्त बरतें सावधानी
जानकारों व चिकित्सकों का कहना है कि छोटे बच्चों को टॉफी या चॉकलेट देते वक्त हमेशा सावधानी बरतना चाहिए। इनके श्वास नली में फंसने या चिपकने की आशंका रहती है, इसलिए उन्हें बड़ी टॉफियां नहीं दी जाना चाहिए। इसके साथ ही मुंह में चिपकने वाली टॉफियां भी नहीं देना चाहिए। बड़ी टॉफियों को टुकड़े कर के देना चाहिए, ताकि वे श्वास या आहार नली में जाकर अटके ना। 

विस्तार

तेलंगाना के वारंगल से एक दर्दनाक घटना सामने आई है। आठ साल के एक बच्चे की गले में चॉकलेट अटकने से मौत हो गई। बीते दिनों बच्चे के पिता ऑस्ट्रेलिया गए थे और वहां से टॉफियां लेकर आए थे। 

यह दुखद घटना शनिवार को वारंगल के पिनावरी स्ट्रीट के एक स्कूल में हुई। शहर में रहने वाले कंवर सिंह व गीता के चार बच्चे हैं। सिंह बिजली के उपकरणों की दुकान चलाते हैं। बीते दिनों वे ऑस्ट्रेलिया गए थे और वहां से बच्चों के टॉफियां लेकर आए थे। शनिवार को दंपती ने स्कूल जाते वक्त अपने बच्चों को ये चॉकलेट दी थी। उनके दो बेटे व एक बेटी पिनावरी स्ट्रीट में ही चलने वाले एक स्कूल में पढ़ते हैं। 

स्कूल का चढ़ाव चढ़ते वक्त खाई थी टॉफी

उनका आठ साल का बेटा संदीप जब स्कूल की दूसरी मंजिल पर स्थित अपनी कक्षा में जा रहा था तब उसने यह चॉकलेट अपने मुंह में रख ली थी। सीढ़ियां चढ़ते वक्त चॉकलेट उसके गले में अटक गई और वह बेहोश होकर गिर पड़ा। जब दूसरे बच्चों ने उसे गिरा देखा तो उन्होंने स्कूल के शिक्षिकों व प्रबंधन को खबर दी। उसे तत्काल प्राथमिक उपचार देकर उसके माता-पिता को सूचित किया गया। 

सूचना मिलते ही कंवर सिंह स्कूल पहुंचे और गंभीर हालत में संदीप को एमजीएम अस्पताल ले जाया गया। डॉक्टरों ने उसके गले में फंसी टॉफी निकालने का प्रयास किया, लेकिन दम घुटने के कारण बच्चे की मौत हो गई। 

छोटे बच्चों को टॉफी देते वक्त बरतें सावधानी

जानकारों व चिकित्सकों का कहना है कि छोटे बच्चों को टॉफी या चॉकलेट देते वक्त हमेशा सावधानी बरतना चाहिए। इनके श्वास नली में फंसने या चिपकने की आशंका रहती है, इसलिए उन्हें बड़ी टॉफियां नहीं दी जाना चाहिए। इसके साथ ही मुंह में चिपकने वाली टॉफियां भी नहीं देना चाहिए। बड़ी टॉफियों को टुकड़े कर के देना चाहिए, ताकि वे श्वास या आहार नली में जाकर अटके ना। 





Source link

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

Recent Comments

spot_img